Daniel J Pipes

डैनियल पाइप्स की जीवनी संबंधी लेख

शीर्षक प्रकाशन तिथि
इस्लामी आतंकवाद से जूझता एक बौद्धिक योद्धा लोकमंच डाट काम 18 जनवरी, 2008
इस्लाम की विफलता की भावना से उभरा आतंकवाद दैनिक जागरण 17 जनवरी, 2008
डैनियल पाइस्स इस्लामवाद के विश्वव्यापी खतरे से लड. रहे हैं जीविस जर्नल 6 मार्च, 2007
<h1>डैनियल पाइप्स की संक्षिप्त जीवनी

डैनियल पाइप्स निदेशक हैं मिडिल ईस्ट फोरम तथा पुरस्कार प्राप्त स्तंभकार हैं न्यूयार्क सन् और द जेरुसलम पोस्टt. उनकी हाल की प्रकाशित पुस्तक, Miniatures: मध्यपूर्व राजनीति तथा इस्लाम पर टिप्पणी 2003 में आई. उनकी वेबसाइट, DanielPipes.org, मध्यपूर्व तथा इस्लाम के संबंध में जानकारी प्राप्त करने के लिए सर्वाधिक देखी जाने वाली वेबसाइट है इसके द्वारा आप उनके कार्य के अभिलेखागार भी देख सकते हैं. कार्य आरंभ करें सामग्री प्रकाशित होते ही उसे ई-मेल के द्वारा प्राप्त कर सकते हैं.

श्री पाइप्स उन कुछ विश्लेषकों में हैं जिन्होंने उग्रवादी इस्लाम के खतरे को समझ लिया था (“अधिकांश पश्चिमी लोगों द्वारा नजरअंदाज किया गया,” उन्होंने लिखा 1995 में कहा था कि(“ यूरोप और अमेरिका के विरुद्ध एक तरफा युद्ध की घोषणा कर दी गई है ”). द बोस्टन ग्लोब राज्यों ने कहा था कि यदि “ पाइप्स की बात सुनी गई होती तो 9/11 की घटना घटित नहीं होती .” वाल स्ट्रीट जर्नल ने उन्हें “मध्यपूर्व विषय पर पूर्ण अधिकार प्राप्त टिप्पणीकार कहा .” MSNBC ने उन्हें “मध्यपूर्व की नीतियों के संबंध में एक विशिष्ट विश्लेषक बताया.”

उन्होंने A.B. (1971) में किया तथा Ph.D.उपाधि (1978) में हार्वर्ड विश्वविद्यालय से प्राप्त की . दोनों उपाधियां इतिहास में लीं. उन्होंने 6 वर्ष विदेश में अध्ययन किया जिसमें तीन वर्ष मिस्र में भी रहे .श्री पाइप्स फ्रेंच बोलते हैं तथा अरबी और जर्मनी पढ़ सकते हैं.उन्होंने शिकागो विश्विद्यालय , हार्वर्ड विश्वविद्यालय तथा यू.एस नेवल वार कॉलेज में पढ़ाया है . उन्होंने अमेरिका सरकार के अंतर्गत अनेक स्तरों पर सेवा की है जिसमें राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त दो पद हैं ... फुल ब्राइट बोर्ड ऑफ फॉरेन स्कॉलरसिप्स के उपाध्यक्ष तथा यू .एस इंस्टीट्यूट ऑफ पीस के बोर्ड के सदस्य . 1986 से 1993 तक वे विदेश नीति शोध संस्थान के निदेशक रहे.

श्री पाइप्स समय- समय पर अमेरिका के टेलीविजन कार्यक्रमों में आकर सामयिक विषयों पर चर्चा करते हैं जिसका प्रसारण ए.बी.सी वर्ल्ड न्यूज़ , सी.बी.एस रिपोर्ट, क्रॉस फायर , गुड मार्निंग अमेरिका , न्यूज़ आवर विथ जिम लेरर , नाईट लाइन , ओ रिली फैक्टर तथा द टूडे शो .. वह विश्व भर के टेलीविजन नेटवर्क पर आ चुके हैं जिसमें बी.बी.सी और अल-जजीरा शामिल हैं तथा वे 25 देशों में व्याख्यान दे चुके हैं.मध्यपूर्व के विषय. पर उन्होंने प्रमुख वित्तीय , निर्माण के व्यवसाय वाली तथा सेवा कंपनियों , कानूनी फर्म , बार संस्थाओं , व्यवसाय ग्रुप व अमेरिका सरकार की एजेन्सियों सहित अमेरिका और कनाडा की कानूनी अदालतों को परामर्श दिया है.

श्री पाइप्स एटलांटिक मंथली, कमेंट्री, फॉरेन अफेयर्स, हार्पर्स नेशनल रिव्यू, न्यू रिपब्लिक, तथा द वीकली स्टैंडर्ड. जैसी पत्रिकाओं में छप चुके हैं. सौ से अधिक समाचार पत्रों ने उनके लेख प्रकाशित किए हैं लॉस एन्जेल्स टाईम्स, न्यूयार्क टाइम्स, वाल स्ट्रीट जर्नल, वाशिंगटन पोस्ट. उनके लेख सैकड़ों वेबसाइट पर छपे हैं अनुवाद24 भाषाओं में

श्री पाइप्स ने 12 पुस्तकें लिखीं हैं पुस्तकें.

इनमें चार इस्लाम से संबंधित हैं: Militant Islam Reaches America (2002), The Rushdie Affair (Birch Lane, 1990), In the Path of God (Basic Books, 1983), और Slave Soldiers and Islam (Yale University Press, 1981).

तीन पुस्तकें सीरिया से जुड़े विषयों पर हैं: Syria Beyond the Peace Process (1996), Damascus Courts the West (Washington Institute, 1991), और Greater Syria (Oxford University Press, 1990).

चार पुस्तकों में मध्यपूर्व से संबंधित विषयों का वर्णन है: The Hidden Hand (St. Martin's, 1996) इसमें विश्लेषण किया गया है कि किस प्रकार अरब और ईरानी स्वयं को तथा शेष विश्व को देखते हैं . An Arabist's Guide to Colloquial Egyptian (Foreign Service Institute, 1983) मिस्र में बोले जाने वाले अरबी व्याकरण को व्यवस्थित किया गया है The Long Shadow (Transaction, 1989) और Miniatures (2003) इस्लाम तथा मध्यपूर्व से संबंधित अनेक विषयों पर निबंध हैं.

Conspiracy (Free Press 1997) वर्तमान यूरोप और अमेरिका की राजनीति में षड्यंत्र के सिद्धांत को स्थापित किया .

श्री पाइप्स ने निबंध के दो संस्करणों का संपादन किया है , Sandstorm (UPA, 1993) और Friendly Tyrants (St. Martin's, 1991).वे 11 पुस्तकों के संयुक्त लेखक हैं

श्री पाइप्स पांच संपादकीय समितियों में बैठ चुके हैं, कॉंग्रेस की अनेक समितियों के समक्ष उनका साक्ष्य हुआ है तथा राष्ट्रपति पद के चार चुनावों में प्रचार में भाग लिया है.. वे मार्क्विस में भी सूचीबद्ध हैं Who's Who in the East, Who's Who in America और Who's Who in the World. अमेरिका और स्विटजरलैंड के विश्वविद्यालयों ने उन्हें मानद उपाधियां भी दी हैं.

श्री पाइप्स ने मिडिल ईस्ट फोरम की स्थापना की (www.meforum.org) 501(c)3 के तहत स्वतंत्र संगठन 1994 में स्थापित हुआ जिसका वार्षिक बजट दस लाख यू एस डॉलर है .इसका उद्देश्य "अमेरिका के हितों का पोषण” प्रकाशन, शोध , परामर्श , मीडिया तक पहुंच तथा जनशिक्षण द्वारा है .फोरम प्रकाशित करता है मिडिल ईस्ट त्रैमासिक ; यह प्रायोजित करता है कैम्पस वाच (www.campus-watch.org), यह मध्यपूर्व के अध्ययन को सुधारने, समीक्षा तथा आलोचना का प्रकल्प है जो चार शहरों में कार्यक्रम आयोजित करता है .

दिसंबर 2004 में अपडेट हुआ

डैनियल पाइप्स की हाल की विश्वविद्यालय की बात-चीत की जानकारी प्राप्त करें.

डैनियल पाइप्स के बड़े चित्र के लिए नीचे छोटे आकार के चित्रों पर क्लिक करें. इन्हें प्रिंट भी किया जा सकता:

विज्ञापन

इस साइट की सभी सामग्री ©1968 -2017 डैनियल पाइप्स. हिन्दी अनुवाद अमिताभ त्रिपाठी