Daniel J Pipes

मिडिल ईस्ट फोरम

मिडिल ईस्ट फोरम (http://www.meforum.org), एक विचारकों का समूह है जो मध्यपूर्व में अमेरिका के हितों को परिभाषित करने और पोषित करने के लिए कार्यरत है .1990 में स्थापित हुआ यह फोरम 1994 में एक स्वतंत्र संगठन बन गया.

मिडिल ईस्ट फोरम का लक्ष्य

फोरम का मानना है कि इस क्षेत्र में अमेरिका के गंभीर हित निहित हैं.विशेषरुप से इजरायल के साथ मजबूत संबंध तथा तुर्की जैसी अन्य लोकतांत्रिक शक्तियों के साथ संबंध फोरम संपूर्ण क्षेत्र में मानवाधिकारों के लिए कार्यरत है . इसकी इच्छा है कि तेल की स्थिर और कम दामों में आपूर्ति हो साथ ही यह क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय विवादों के शांतिपूर्ण समाधान को प्रोत्साहित करता है .

मिडिल ईस्ट फोरम इस पूरे क्षेत्र में तानाशाही ,कट्टरपंथी विचारधाराओं , अस्तित्व के संघर्ष , सीमा विवाद ,राजनीतिक हिंसा तथा जनसंहार के हथियारों को अमेरिका की समस्या का प्रमुख स्रोत मानता है .इस लिए हम सक्रिय कदम उठाकर अमेरिका और उसके विदेशी सहयोगियों को इस खतरे से बचाना चाहते हैं.

इस लक्ष्य के लिए फोरम को एक ऐसे बौद्धिक वातावरण को निर्मित करने की आवश्यकता है जिससे सभ्य लोगों से जुड़े विषयों की सहायक अमेरिका की विदेश नीति बन सके .

हमारी आवाज़

फोरम के स्टाफ और सहयोगी वर्ष भर में दर्जनों बार रेडियो और टेलीविजन पर आते हैं,नियमित रुप से मीडिया को प्रत्यक्ष या परोक्ष रुप से साक्षात्कार देते हैं तथा लेख और पुस्तकें लिखते हैं .वे अमेरिका के बहुत से कार्यक्रमों में साथ ही बी.बी.सी, अल-जजीरा ,कनाडा, फ्रांस और जापान के टेलीविजन पर भी आ चुके हैं. उन्होंने हाल में अमेरिका के सभी बड़े समाचार पत्रों में लिखा है तथा बहुत से यूरोप , मध्यपूर्व और पूर्वी एशिया के पत्रों में भी लिखा है .इसके अतिरिक्त स्टाफ के सदस्य अमेरिका सरकार की छोटी रैंक के सदस्य भी हैं, कॉग्रेस के समक्ष इनके साक्ष्य होते हैं तथा रक्षा विभाग व अन्य संघीय एजेन्सियों के लिए अध्ययन भी करते हैं.

मिडिल ईस्ट त्रैमासिक
सहायक शीर्षक माईकल रुबिन द्वारा संपादित

Middle East Quarterly एक साहसी , अंतर्दृष्टि से भरपूर विवादास्पद प्रकाशन है जिसका संपादन माईकल रुबिन द्वारा होता है ,96 पृष्ठों में वे तर्क और तथ्य दिए जाते हैं जिससे मध्यपूर्व की जटिलता को समझा जा सकता है . Quarterly ने 1994 में अपनी स्थापना के बाद से ही वाशिंगटन पर प्रभाव छोड़ा है जिससे राज्य विभाग को अपनी नीतियों की समीक्षा करने को विवश होना पड़ा है .इससे लॉबिंग करने वालों को भी कैपिटल हिल के सामने अपने तर्क रखने में आसानी हुई है साथ ही भाषण लिखने वालों को नीतियों के बारे में जानकारी मिलती रही है . अकादमिक क्षेत्र में Quarterly ने अनेक ऐसी संतुलित सामग्री दी है जिसमें बेहिचक अमेरिका और इजरायल की आलोचना की गई है . यह नीति परक जर्नल है जो विशेषज्ञों को जानकारी उपलब्ध कराता है तथा सामान्य पाठकों को गहरी जानकारी देता है .आपको इसमें कहीं न छपे साक्षात्कार, लीक से हटकर अध्ययन तथा सामयिक राजनीति, अर्थनीति और संस्कृति से जुड़े अंतर्दृष्टि से भरपूर लेख देखने को मिलेंगे.

इस जर्नल को कुछ प्रकाशनों ने काफी पसंद किया है और अपने प्रकाशनों का पसंदीदा विषय माना है जैसे Boston Globe, Chronicle of Higher Education, Forward, Near East Report, New Republic, New York Times and Philadelphia Inquirer. इसके साथ ही यह संकेत देने के लिए कि Quarterly ने बहस को परिभाषित करने में सहयोग किया है कुछ पत्रिकाओं और समाचार पत्रों में यह पुन: प्रकाशित होता है Baltimore Sun, Los Angeles Times, Miami Herald Tribune, National Review, Turkish Times, Wall Street Journal, and Washington Post, साथ ही कनाडा, यूरोप और मध्यपूर्व में भी.

विज्ञापन

इस साइट की सभी सामग्री ©1968 -2017 डैनियल पाइप्स. हिन्दी अनुवाद अमिताभ त्रिपाठी